Tag Archives: kumar vishwas

तुम्हारी छत पे निगरानी बहुत है – तुम्हें जीने में आसानी बहुत है कुमार विश्वास

तुम्हारी छत पे निगरानी बहुत है तुम्हारी छत पे निगरानी बहुत है तुम्हें जीने में आसानी बहुत है तुम्हारे ख़ून में पानी बहुत है ज़हर-सूली ने गाली-गोलियों ने हमारी जात पहचानी बहुत है कबूतर इश्क का उतरे तो कैसे तुम्हारी छत पे निगरानी बहुत है इरादा कर लिया गर ख़ुदकुशी का तो खुद की आखँ… Read More »