हम कौन थे क्या हो गये – hum kaun the kya ho gaye hindi poem

आर्य -मैथिलीशरण गुप्त हम कौन थे, क्या हो गये हैं, और क्या होंगे अभी आओ विचारें आज मिल कर, यह समस्याएं सभी भू लोक का गौरव, प्रकृति का पुण्य लीला स्थल कहां फैला मनोहर गिरि हिमालय, और गंगाजल कहां संपूर्ण देशों से अधिक, किस देश का उत्कर्ष है उसका कि जो ऋषि भूमि है, वह… Read More »

नीड़ का निर्माण – Need Ka Nirmaan Hindi Poem Harivansh Rai Bachchan

नीड़ का निर्माण -हरिवंश राय बच्चन नीड़ का निर्माण फिर-फिर नेह का आह्वान फिर-फिर वह उठी आँधी कि नभ में छा गया सहसा अँधेरा धूलि धूसर बादलों ने भूमि को इस भाँति घेरा रात-सा दिन हो गया, फिर रात आ‌ई और काली लग रहा था अब न होगा इस निशा का फिर सवेरा रात के… Read More »

कोशिश करने वालों की कभी हार नही होती – Koshish Karne Walo Ki Kabhi Haar Nahi Hoti

कोशिश करने वालों की कभी हार नही होती -sohan lal Dwivedi लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती नन्ही चींटीं जब दाना लेकर चढ़ती है… चढ़ती दीवारों पर सौ बार फ़िसलती है… मन का विश्वास रगों में साहस भरता है… चढ़कर गिरना, गिरकर चढ़ना, ना अखरता है… मेहनत… Read More »

Kitni pi Kaise Kati Raat Mujhe Hosh Nahi Rahat Indori – Hindi Poetry

kitni pi kaise kati raat mujhe hosh nahi – rahat indori shayari kitni pi kaise kati raat mujhe hosh nahi raat ke saath gayi baat mujhe hosh nahi mujhko ye bhi nahi maaloom ki jaana hai kaha thaam le koi mera haath mujhe hosh nahin aansuon aur sharaabon mein gujaari hai hayaat maine kab dekhi… Read More »

Safar ki Had Hai Waha tak ki kuch Nishan Rahe Rahat Indori – Hindi Poetry

    rahat indori is a great poet and we all love him very much. he says great shayaris some of his best collection of rahat indori shayari is below. safar ki had hai Waha tak ki kuch nishan rahe Rahat Indori Shayari safar ki had hai Waha tak ki kuch nishan rahe chale chalo… Read More »